Thu. Jan 20th, 2022

मशरूम खेती की पूरी जानकारी, 50 हजार से कमाई 2.50 लाख रुपये तक

भारत मे मशरूम की खेती काफी कम area में होती है लेकिन इसकी खपत बहुत ज्यादा है जिससे किसानो को इससे काफी ज्यादा मुनाफा हो सकता है ऐेसे मे अब बहुत से किसान जो पहले गेहूं लगाया करते थे अब बड़े तोर पर मशरूम की खेती सुरु कर दी भारत के तमिलनाडु और पश्चिम बंगाल में इसकी ज्यादा खपत देखने को मिलती है

सबसे पहले compost तैयार करना होता है जिसमें बाद मे फार्म मे डालकर मशरूम उगाई जाती है मशरूम की कीमत 100 से 150 रूपए किलो तक रहती है आइये जानते शरू से लेकर आखिर तक प्रोसेस =

कम्पोस्ट केसे तैयार करे :-

Cimposty को बनाने के लिए धान के फुस को कटकर उसमे पानी का छिड़काव होता है और एक दिन बाद इसमें DAP , UREA , POTASH, गेहूं का चोकर, ZYPSUM और कार्बन फ्यू ड्रोन मिलाकर, इसे सड़ने के लिए छोड़ दिया जाता है. करीब 1 से दो महीने के बाद compost तैयार होता है. अब गोबर की खाद और मिट्टी को बराबर मिलाकर करीब 2 इंच मोटी परत फर्म मे बिछा दी जाती है उस पर compost की 2-3इंच मोटी परत चढ़ाई जाती है. इसमें नमी बरकरार रहे इसलिए spray से मशरूम पर दिन में दो से तीन बार छिड़काव किया जाता है. इसके ऊपर 1-2 inch compost की परत और चढ़ाई जाती है.  कुछ दिनों के बाद मशरूम पेदावार शुरू हो जाएगी

बिजाई का समय :-

मशरुम के बीज fresh , fully grown और fungus free होने चाहिए। मशरुम बीज की compost 1 quintol compost में 0.75-1 किलो ग्राम होनी चाहिए। बीज को अच्छी तरह compost में mix कर के उन्हें या । इस समय  का टेम्परेचर 250 और मॉइस्चर कंटेंट 70% रखना चाहिए। 15 दिनों में बीजाई पूरी हो जाती है और इसके बाद केसिंग की ज़रूरत पड़ती है।

क्या सरकार सबसिडी देती है :-

सरकार इस काम के लिए सपसीडी देती है लेकिन उसके लिए आपको पहले लोन लेने के लिए किसानों को एक रिपोर्ट नाबार्ड से अप्रूव करनी पड़ती है। लोन के अमाउंट के प्रोसेसिंग के लिए इन केस को national बैंक को  जाता है.  सपसीडी की कीमत 20% तक हो सकती है

रष्ट्रीय कृषि विकास योजना में भी किसानों को मशरुम शेड/ house , tools इत्यादि के लिए 80000 रुपए दिए जाते हैं.

मशरुम कहा बेचा जाएगा :-

 

मशरुम उत्पादन करने के बाद उससे सही market तक पहुँचाने पर ही आप मुनाफा कमा सकते हैं. वैसे तो मशरुम की काफी demand है लेकिन इसके लिए आपको mandi में एक बड़ी पहचान बनानी पड़ेगी ताकि future में आपका मशरुम आसानी से market तक पहुँच जाये.

आप उन्हें ये भी बताये कि मशरुम का प्रयोग दवाइयाँ बनाने में भी होता है. इससे प्रभावित होकर कुछ लोग वहां मशरुम खरीद सकते हैं और इससे आपको यह भी पता चल जाएगा कि मशरुम को दवाई बनाने वाली company को भी बेचा जा सकता है. इन सब के बावजूद भी अगर आपके मशरुम का स्टॉक नहीं बिक रहा तो आप मशरूम को सूखा कर और उनका powder बना कर उन्हें Online बेचकर मुनाफा कमा सकते हैं.

मशरूम से कितनी कमाई होती हैं

मशरुम से जितनी मशरूम की लागत खर्च से तीन गुना ज्यादा तक कमाई हो सकती है. एक छोटे से space में सालभर में 3-4 लाख रुपये तक की कमाई हो सकती है. बाजार में इसकी कीमत 300-400 rupee íकिलो तक होती है. सही देखभाल के साथ 4-5 क्विंटल compost में 2 हजार किलो तक मशरूम उगाया जा सकता है. बाजार में 300-400 rs बिकने वाला मशरूम अगर किसान व्यापारियों को 150 rs किलो में बेचता है है, तब भी  कमाई हो सकती है.

 

By admin

One thought on “मशरूम खेती की पूरी जानकारी, 50 हजार से कमाई 2.50 लाख रुपये तक”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *